Valentine Day Specail 2024 : फरवरी यानि प्यार का महीना, जिसमे मनाया जाता हैं वैलेंटाइन डे…पढ़े स्टोरी

Date:

Share post:

Valentine Day Specail 2024

Valentine Day Specail 2024 : फरवरी को प्यार का महिना माना जाता है। इस महीने का इंतजार सालभर प्यार करने वालों को रहता है । किसी को पसंद करते हैं और उन्हें दिल की बात कहना चाहते हों या प्यार के इजहार के लिए किसी खास मौके की तलाश में हो तो फरवरी का महीना बेहद उपयुक्त रहेगा।
Valentine Day Specail 2024
Valentine Day Specail 2024

Valentine Day Specail 2024 : इस महीने आप दोस्ती के रिश्ते को एक पड़ाव आगे बढ़ा सकते हैं। अपने साथी के साथ रिश्ते को अधिक गहरा बना सकते हैं। कपल्स के जीवन में निरसता आ गई हो तो उसी उत्सुकता को दोबारा ला सकते हैं, क्योंकि फरवरी माह में वैलेंटाइन डे मनाया जाता है। यह दिन प्यार करने वालों के लिए त्योहार की तरह होता है। लेकिन

वैलेंटाइन डे 14 फरवरी को मनाया जाता है। इस दिन को मनाने की शुरुआत रोम में हुई। रोम के राजा क्लॉडियस के समय में एक पादरी थे, जिनका नाम सेंट वैलेंटाइन था। उन्हीं के नाम पर वैलेंटाइन डे मनाने की शुरूआत हुई।

https://aajkijandhara.com/janjgir-shakti-news/

पादरी सेंट वैलेंटाइन दुनिया में प्यार को बढ़ावा देना चाहते थे पर रोम के राजा क्लॉडियस को यह बात पसंद नहीं थी। राजा का मानना था कि प्यार और शादी पुरुषों की शक्ति को खत्म कर देती है। राजा ने आदेश भी दिया था कि, राज्य के अधिकारी और सैनिक शादी नहीं कर सकते।
Valentine Day Specail 2024
Valentine Day Specail 2024
सेंट वैलेंटाइन को जब इस बात का पता चला तो उन्होंने इसका विरोध किया। सेना के कई अधिकारियों और सैनिकों की शादी भी कराई। राजा सेंट वैलेंटाइन द्वारा उनके आदेश के उल्लंघन से नाराज हो गए
और उन्होंने 14 फरवरी 269 को सेंट वैलेंटाइन को फांसी पर चढ़ा दिया। सेंट वैलेंटाइन के निधन को लोगों ने उनके प्यार के लिए बलिदान के रूप में माना और उन्हें सम्मान देने के लिए उनकी याद में प्रतिवर्ष 14 फरवरी को वैलेंटाइन डे मनाने का फैसला किया।
वैलेंटाइन डे को प्यार के त्योहार के रूप में मनाने की एक और बड़ी वजह है। सेंट वैलेंटाइन ने केवल जीवित रहते हुए प्यार का प्रचार नहीं किया, बल्कि मरने के बाद भी प्यार के लिए बलिदान दिया।
जिस शहर में सेंट वैलेंटाइन रहते थे, वहां के जेलर की एक बेटी थी, जिसका नाम जैकोबस था। जैकोबस नेत्रहीन थी। सेंट वैलेंटाइन ने मौत से पहले जेलर की बेटी जैकोबस को अपने नेत्र दान देने के फैसला लिया। उन्होंने जैकोबस के लिए एक पत्र भी लिखा था, जिसमें उन्होंने लिखा, तुम्हारा वैलेंटाइन।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

PM Modi Speech : राज्यसभा में पीएम मोदी का सम्बोधन आज

PM Modi Speech PM Modi Speech : पीएम नरेंद्र मोदी आज राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद...

Clean Green Colony Award : क्लीन ग्रीन कॉलोनी अवार्ड देगा नगर निगम

Clean Green Colony Award Clean Green Colony Award :रायपुर : क्लीन ग्रीन कॉलोनी अवार्ड देगा नगर निगम,पंजीयन के लिए...

Surguja Crime News : कक्षा छठवीं की छात्रा ने लगाई फांसी

Surguja Crime News Surguja Crime News : सरगुजा : आर्चि सिन्हा कार्मल स्कूल की छात्र ने लगाई फांसी देर...

Chhattisgarh Assembly Budget Session : छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का तीसरा दिन भी हंगामेदार रहेगा

Chhattisgarh Assembly Budget Session   Chhattisgarh Assembly Budget Session : रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का तीसरा दिन...