IPS officer Amit Kumar : बदल गए राज्य के इंटेलिजेंस चीफ, जानें किस आईपीएस अफसर के सिर पर सजा खुफिया विभाग के प्रमुख का ताज़

Date:

Share post:

IPS officer Amit Kumar

 

IPS officer Amit Kumar रायपुर। गुरूवार को छत्तीसगढ़ के खुफिया विभाग के चीफ बदल दिए गए हैं।

IPS officer Amit Kumar यह जिम्मेदारी प्रदेश के एक बेहद ही काबिल आईपीएस अफसर को दी गई है।

जो लगातार 12 वर्षों तक सीबीआई के ज्वाइंट डॉयरेक्टर पद पर कार्य कर चुके हैं।

यही नहीं वे छत्तीसगढ़ के 6 जिलों के पुलिस अधीक्षक भी रह चुके हैं।

किस अफसर के सिर पर सजा है ये ताज़ , हम बताएंगे आपको ये राज़ बस आप बने रहिए जनधारा 24x 7 के साथ-

IPS officer Amit Kumar
IPS officer Amit Kumar

IPS officer Amit Kumar किस के सिर पर सजा खुफिया प्रमुख का ताज़

दरअसल गुरूवार को भारतीय पुलिस सेवा के अधिकारी आईपीएस अमित कुमार को इंटेलिजेंस विभाग की जिम्मेदारी सौंपी गई है।

आईपीएस अमित कुमार कुछ समय पहले ही केंद्रीय प्रतिनियुक्ति से लौटे हैं। इसके पहले भी वे कई महत्वपूर्ण पदों पर रह चुके हैं।

IPS officer Amit Kumar कहां-कहां पदस्थ रहे अमित कुमार

पूर्व इंटेलिजेंस चीफ आनंद छाबड़ा को कार्यमुक्त कर दिया गया है। उनकी जगह 1998 बैच के आईपीएस अफसर अमित कुमार नए इंटेलिजेंस चीफ बनाए गए हैं।

आईपीएस अमित कुमार रायपुर समेत 6 जिलों के एसपी रह चुके हैं। रायपुर से फिर पहली बार एसपी बनकर बीजापुर गए।

उस समय नक्सल हिंसा चरम पर थी।

जानें किस आईपीएस अफसर के सिर पर सजा खुफिया
जानें किस आईपीएस अफसर के सिर पर सजा खुफिया

बीजापुर के बाद वे राजनांदगांव, जांजगीर चांपा, दुर्ग, बिलासपुर और रायपुर के वे एसपी रहे।

एसपी के तौर पर रायपुर उनका अंतिम जिला रहा।

रायपुर एसपी रहते हुए ही उनकी सीबीआई में पोस्टिंग हो गई।

सीबीआई के जॉइंट डायरेक्टर भी रह चुके हैं

IPS officer Amit Kumar 12 साल सीबीआई की जिम्मेदारी

सन 2011 में वे सीबीआई गए और करीब 12 साल वहां रहने के बाद दिसंबर 2023 में छत्तीसगढ़ लौटे।

वे देश के चर्चित कोल स्कैम में उन्हें सुप्रीम कोर्ट में सीबीआई का नोडल अधिकारी की जिम्मेदारी मिली थी।

सीबीआई में वे जॉइंट डायरेक्टर पॉलिसी जैसे पद पर रहे, जो सीधे पीएमओ के टच में रहता है।

जॉइंट डायरेक्टर पॉलिसी, सीबीआई में काफी प्रभावशाली पद माना जाता है।

 

IPS officer Amit Kumar पांच जिलों के रह चुके हैं एसपी

आईपीएस में सिलेक्ट होने के बाद 98 से 2011 तक याने 13 साल छत्तीसगढ़ में रहे।

पांच जिलों के एसपी रहने के बाद भी अमित का कॅरियर निर्विवाद रहा।

अमित के कार्यभार ग्रहण करने के बाद पुलिस के वसूली गैंग की दिक्कतें बढ़ सकती है,

ऐसा पुलिस के अधिकारी ही मानते हैं।

क्योंकि, उन्हें मैदानी इलाके के साथ ही बस्तर में काम करने का अवसर मिला है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here

spot_img

Related articles

PM Modi Speech : राज्यसभा में पीएम मोदी का सम्बोधन आज

PM Modi Speech PM Modi Speech : पीएम नरेंद्र मोदी आज राष्ट्रपति के अभिभाषण पर लाए गए धन्यवाद...

Clean Green Colony Award : क्लीन ग्रीन कॉलोनी अवार्ड देगा नगर निगम

Clean Green Colony Award Clean Green Colony Award :रायपुर : क्लीन ग्रीन कॉलोनी अवार्ड देगा नगर निगम,पंजीयन के लिए...

Surguja Crime News : कक्षा छठवीं की छात्रा ने लगाई फांसी

Surguja Crime News Surguja Crime News : सरगुजा : आर्चि सिन्हा कार्मल स्कूल की छात्र ने लगाई फांसी देर...

Chhattisgarh Assembly Budget Session : छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का तीसरा दिन भी हंगामेदार रहेगा

Chhattisgarh Assembly Budget Session   Chhattisgarh Assembly Budget Session : रायपुर : छत्तीसगढ़ विधानसभा के बजट सत्र का तीसरा दिन...